• Your IP Address : 3.234.211.61
  •  
  • Unique Hits : 125316
  •  
  • Current Date & Time :
  •  

Event


20 फरवरी प्रेस नोट भोपाल पुलिस

( 20th February 2021 11:50 PM )

प्रेस नोट, भोपाल पुलिस🚔


राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न-


अपराधों की रोकथाम, सायबर अपराधों पर अंकुश, फ़रार आरोपियों की गिरफ्तारी एवं पेंडिंग अपराधों के निराकरण हेतु एडीजी भोपाल जोन, भोपाल श्री ए.साई मनोहर एवं डीआईजी शहर श्री इरशाद वली ने जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की आज रात्रि न्यू पुलिस कंट्रोल रूम में समीक्षा बैठक ली, जिसमें एसपी हेडक्वार्टर श्री रामजी श्रीवास्तव, एसपी नार्थ श्री विजय खत्री, एसपी साउथ श्री साई कृष्णा थोटा एवं समस्त एएसपी, सीएससी, एसडीओपी व थाना प्रभारी मौजूद रहे।


एडीजी श्री ए. साई मनोहर ने बैठक को संबोधित करते हुए दिशा निर्देश दिए कि पूर्व वर्षों के महिला सम्बंधी एवं धोखाधड़ी के लंबित प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ त्वरित निराकरण करें एवं आवश्यकतानुसार पर्यवेक्षण अधिकारी से मार्गदर्शन लेकर अपराधों का अतिशीघ्र निराकरण सुनिश्चित करें। विशेष अभियान चलाकर फ़रार आरोपियों व वारंटियों की गिरफ्तारी हेतु कार्ययोजना तैयार करें। सायबर अपराधों की रोकथाम हेतु लोगों को एडवाइजरी के माध्यम से जागरूक करें, online ठगी, धोखाधड़ी सम्बंधी शिकायतो पर त्वरित कार्यवाही कर अपराधियों के खिलाफ सख्त वैधानिक कार्रवाई करें। एजेके से सम्बंधित अपराधों का निर्धारित समय में निराकरण करना सुनिश्चित करें एवं पीड़ित को शासन के निर्देशानुसार उचित आर्थिक मदद करें।


महिलाओं एवं बालिकाओं की मदद हेतु विभिन्न थानों में संचालित ऊर्जा/महिला डेस्क में आने वाली पीड़िता की शिकायतों को गम्भीरता से सुनकर त्वरित उचित कार्रवाई कर पुलिस सहायता मुहैया करवाए। चिटफंड कंपनियों, भूमाफियाओं, मिलावटखोरों एवं अपराधियों के विरुद्ध लगातार कार्रवाई जारी रखें। अवैध हथियार तस्कर, शराब तस्कर एवं मादक पदार्थ तस्करों के खिलाफ अभियान चलाकर सख्त कानूनी कार्यवाही करें।


डीआईजी शहर श्री इरशाद वली ने बैठक में दिशा निर्देश दिए कि शहर में हो रही नकबजनी व वाहन चोरी की घटनाओं की रोकथाम हेतु घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से चोरों की पतारसी करें। अत्यधिक वाहन चोरी वाले स्थानों को चिन्हित कर वहां सीसीटीवी कैमरे लगवाएं व उन्हें भोपाल आई से लिंक करें। पुराने चोरों, लुटेरों से पूछताछ कर उनपर निगाह रखें। थाना क्षेत्र में वाहन चेकिंग, पेट्रोलिंग बढ़ाएं एवं वित्तीय संस्थान, बैंक, एटीएम, धार्मिक स्थल इत्यादि नियमित रूप से चेक करते रहें।