• Your IP Address : 3.234.211.61
  •  
  • Unique Hits : 125320
  •  
  • Current Date & Time :
  •  

Event


05 जनवरी प्रेस नोट भोपाल पुलिस

( 05th January 2021 6:10 PM )

प्रेस विज्ञप्ति, सूखीसेवनिया, भोपाल


भोपाल पुलिस को बड़ी सफलता-


  खजाना दिलाने के नाम पर 06 व्यक्तियों की हत्या कर चुका सीरियल किलर मनीराम सेन गिरफ्तार-


5 हत्या के आरोप में आजीवन करावास की सजा काट चुका है मनीराम सेन,


सूखीसेवनिया के जंगल में खजाना के नाम पर ले जाकर आदिल वहाव की हत्या मनीराम सेन ने की थी-


प्रमुख तथ्यः-


दिनांक 08 नवम्बर 2020 को थाना सूखीसेवनिया अंतर्गत ग्राम अब्दुल्ला बरखेड़ी के जंगल में पत्थर से सिर कुचलकर मृतक आदिल वहाव की नृसंस हत्या की गई थी । घटना स्थल जंगल होने से उक्त अंधे कत्ल का कोई मौके का साक्षी नही मिला था  ।

मृतक आदिल वहाव से खजाना (जमीन में गढ़ा सोना) दिलाने के नाम पर आरोपी मनीराम सेन ने 17 हजार रूपये लिये थे । मृतक आदिल वहाव द्वारा उसके रूपये वापस करने अथवा खजाना दिलाने का कहने पर आरोपी मनीराम सेन, मृतक आदिल वहाव की ही स्कूटी से घटना स्थल सूखीसेवनिया के जंगल में ले जाकर उसकी हत्या सिर पर पत्थर मारकर की ।

आरोपी मनीराम सेन उर्फ मनिया द्वारा खजाना (जमीन में गढ़ा सोना) दिलाने के नाम पर मृतक आदिल वहाव को जंगल में ले जाकर हत्या की गई । मृतक आदिल वहाव के.के.आर. बेव न्यूज में कार्य करता था ।

घटना स्थल जंगल में मृतक आदिल वहाव को जूट के बोरा पर बैठाकर पूजा के वहाने आंख बंद कराकर पीछे से उसके सिर पर पत्थर का बार कर उसकी नृसंस हत्या की गई ।

विवेचना पर मृतक के परिजन, दोस्त तथा रिश्तेदारों सहित करीबन 74 व्यक्तियों से पूछताछ की गई । जिससे आरोपी मनीराम के द्वारा घटना करने के संबंध में सुराग मिला ।

थाना सूखीसेवनिया के उक्त अंधे कत्ल के अज्ञात आरोपी पर 20 हजार रूपये का इनाम घोषित था ।

घटना के बाद आरोपी मनीराम फरार हो गया था एवं फरारी के दौरान मोबाइल अपने साथ नही रखा था ।

आरोपी मनीराम सेन वर्ष 2000 में थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा में खजाना दिलाने के नाम पर रूपये लेकर तथा लिये गये रूपये वापस नही करना पड़े इसलिये पॉच व्यक्तियों की हत्या कर चुका है । उक्त अपराध के बाद सीरियल किलर मनीराम सेन डेढ़ वर्ष तक फरार रहा । उक्त अपराध में आरोपी मनीराम सेन को आजीवन कारावास की सजा हुई थी । 

थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा के पॉच व्यक्तियों की हत्या के अपराध में आजीवन कारावास की सजा वर्ष 2017 में पूर्ण कर अशोका गार्डन थाना क्षेत्र के अंतर्गत नवाव कालौनी में रह रहा था ।

थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा के अपराध क्रमांक 99/2000 धारा 302,201 भादवि में वर्ष 2006 में पैरोल पर आकर भी फरार हो चुका था जिसे 4 माह पश्चात विदिशा पुलिस ने गुजरात से गिरफ्तार किया गया था ।


घटना का विवरण- दिनांक 08 नवम्बर 2020 को थाना सुखी सेवनिया अंतर्गत ग्राम अब्दुल्ला बरखेड़ी के जंगल में सिर कुचली लाश पड़ी मिली जिसकी पहचान आदिल वहाव निवासी बी-48 शेड अशोका गार्डन क्षेत्र का रहने वाला था जिसकी हत्या सिर पत्थर से कुचलकर किया जाना पाया गया घटना स्थल जंगल होने से अज्ञात आरोपी का तत्समय पता नही चला ।


आरोपी मनीराम सेन की पृष्ठभूमि- आरोपी मनीराम सेन मूलतः ग्राम मानोरा थाना ग्यारसपुर जिला विदिशा म.प्र. का मूल निवासी है जो वर्ष 2000 में पॉच व्यक्तियों की हत्या में आजीवन सजा काटकर वर्ष 2017 में जेल से छूटा है, वर्ष 2006 में भी आरोपी पैरोल से भी फरार हो चुका है ।


तरीका ए वारदात-आरोपी जंगल में खजाना निकालने के नाम पर पैसा एठता है जब खजाना नही निकल पाता तो पैसों की वापसी के लिये जब व्यक्ति दबाव बनाते है तब व्यक्तियों को योजनाबद्ध तरीके से सूनसान जंगल में ले जाकर पूजा-पाठ बहाने आंखे बंद कराकर पीछे से सिर पर चोट पहुंचाकर हत्या कर देता है । 


अज्ञात आरोपी मनीराम कैसे पकड़ा गया-आरोपी मोबाइल नही रखता है । आरोपी की गिरफ्तारी हेतु मुखविर तंत्र फैलाया गया परिणामस्वरूप अभियुक्त मनीराम सेन दिनांक 05.01.2021 को इलाहाबाद से लौटकर राहतगढ़ जिला सागर पहुंचा ही था कि राहतगढ़ जिला सागर से आरोपी मनीराम सेन को पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर आरोपी से पूछताछ पर हत्या करना स्वीकार किया । 

महत्वपूर्ण भूमिकाः- उक्त अंधे कत्ल की विवेचना वरिष्ठ अधिकारियों के सतत् मार्गदर्शन एवं नगर पुलिस अधीक्षक श्री सुरेश दामले के निर्देशन में थाना प्रभारी सूखीसेवनिया श्री विजय बहादुर सिंह सेंगर, थाना प्रभारी पिपलानी श्री चैन सिंह रघुवंशी, थाना प्रभारी अवधपुरी श्री विजय त्रिपाठी एवं उनि मेहताब सिंह थाना बिलखिरिया द्वारा सूक्ष्मतः से विवेचना की गई, उक्त अपराध के आरोपी मनीराम सेन की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी पिपलानी श्री चैन सिंह रघुवंशी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है ।